डिलाईट गार्डन का निर्माण कार्य बंद , लेकिन ट्रिब्यूनल से मिला स्टे ?

0
205
Private Advertisement

Faridabad News (City mail News)  सूरजकुंड रोड पर बनाए जा रहे डिलाइट अरावली गार्डन मामले में हर रोज नया मोड़ आ रहा है इस मुद्दे को लेकर शहर में शह और मात का खेल खेला जा रहा है ! डिलाईट प्रबंधन की ओर से दावा किया गया कि उन्हें प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के खिलाफ जारी आदेशों पर ट्रिब्यूनल से स्टे आर्डर मिल गया है ! प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने एनजीटी में डिलाइट अरावली गार्डन को दिया गया अनापत्ति प्रमाण पत्र वापस ले लिया था! हालांकि डिलाईट होटल के मालिक बंटी भाटिया का कहना है कि उन्हें दो बार बोर्ड ने एनओसी दिया है और एक साथ उसे वापस लेने का कोई नियम नहीं है , प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने उन्हें एनओसी कैंसिल करने का कोई भी नोटिस नहीं दिया है ! बोर्ड द्वारा अचानक एनओसी कैंसिल करना न्याय संगत नहीं है! बंटी भाटिया ने दावा किया कि उन्हें प्रदूषण बोर्ड के खिलाफ ट्रिब्यूनल से स्टे आर्डर प्राप्त हो चुका है , ट्रिब्यूनल में  उनके  द्वारा  दायर  स्टे  याचिका  पर  अगली सुनवाई  26 अप्रैल  को होगी ! बंटी भाटिया ने बताया कि सूरजकुंड रोड पर उनके द्वारा  बनाई  जा रहे  गार्डन  को लेकर  सभी संबंधित कागजात हैं ! इसलिए प्रशासन को दबाव में नहीं आना चाहिए! उन्होंने कहा यदि ऐसा ही रहा तो शहर में कोई भी उद्योगपति और व्यापारी बिजनेस नहीं करेगा! सभी लोग अपने काम धंधे बंद करके बैठ जाएंगे ! उन्होंने बताया कि फिलहाल नगर निगम के निर्माण कार्य को बंद करने के नोटिस का रिप्लाई दिया जा रहा है , जब तक इस पर कोई फाइनल निर्णय नहीं होता , तब तक निर्माण कार्य बंद रहेगा ! उन्होंने यह भी कहा कि एनजीटी ने निर्माण कार्य बंद करने के आदेश जारी नहीं किए हैं , इस संदर्भ में दायर याचिका को डिसमिस कर दिया गया है !
वहीं दूसरी ओर आरटीआई एक्टिविस्ट एवं डिलाइट अरावली गार्डन  निर्माण एवं  अरावली  क्षेत्र  के  संरक्षण  की   लड़ाई लड़ रहे वरुण श्योकंद का कहना है कि एनजीटी में हरियाणा सरकार के एडवोकेट ने जवाब दिया है कि निर्माण कार्य बंद रहेगा  , यदि फिर भी निर्माण कार्य जारी रहेगा तो वह अपनी लड़ाई भी जारी रखेंगे ! वरुण ने कहा कि वह न्यायिक लड़ाई को किसी भी सूरत में नहीं रोकेंगे! वरुण के अनुसार यदि आवश्यकता हुई तो वह अपनी लड़ाई को सुप्रीम कोर्ट तब भी लेकर जाएंगे ! 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here