2000 नए मकान खंडहर बन रहे हैं, गरीब सड़क पर सो रहे हैं, पाराशर

0
92
Private Advertisement

Faridabad News (City mail News)  हाउसिंग बोर्ड, हरियाणा की ओर से पूरे राज्य के बीपीएल परिवारों के लिए हजारों फ्लैट बनाए गए हैं। इनमें से फरीदाबाद की डबुआ कालोनी में लगभग दो हजार फ्लैट बनाए गए हैं। यहाँ लगभग दो सौ लोगों को ही फ़्लैट दिए गए हैं। लगभग 1800 फ़्लैट खाली पड़े हैं जो खंडहर में तब्दील होते जा रहे हैं। बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर ने  मौके का जायजा लिया ! जिसके बाद उन्होंने हरियाणा सरकार और फरीदाबाद के सत्ताधारी नेताओं पर सवाल उठाते हुए कहा कि शहर में गरीब सड़कों पर सोते दिख जाते हैं और यहाँ 1800 मकान खाली पड़े हैं जो खंडहर में तब्दील होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जहाँ फ़्लैट बने हैं वहाँ अन्य कोई सुविधाएँ नहीं हैं और जगह नरक से बदतर हो गई है। जंगली जानवर मौके पर घूम रहे हैं। फ्लैटों के शीशे तोड़ दिए गए हैं और फ्लैटों में लगे बिजली पानी के सामान चोर उठा ले गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार सफाई अभियान चला रही है लेकिन जहाँ सफाई की जरूरत है वहाँ कोई सफाई अभियान नहीं चलाया गया। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद प्रशासन भी सोया हुआ है और 10 साल से बने इन फ्लैटों को गरीबों को नहीं वितरित किया गया।
वकील पाराशर ने कहा कि सरकार का अरबों रूपया इन फ्लैटों में लगा है जो मिट्टी में मिलता जा रहा है और ये पैसा जनता का ही है तो जनता टैक्स के रूप में सरकार को देती है। उन्होंने कहा कि यहाँ सरकार और प्रशासन ने बड़ी लापरवाही की है।

उन्होंने कहा कि अगर लापरवाही न की जाती तो यहाँ दो हजार गरीब परिवारों को अब तक बसा दिया गया होता। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि यहाँ साफ़ सफाई करवा यहाँ गरीबों को बसाये ताकि शहर के गरीबों को अपना छत मिल सके। उन्होंने कहा कि आस पास के लोगों ने बताया कि इन फ्लैटों में गलत काम होते हैं। यहाँ मर्डर भी हो चुके हैं। दिन भर यहाँ नशेड़ी पड़े रहते हैं और शाम को आस पास चोरी करते हैं।

डबुआ या आस पास जो अपराध बढ़ रहे हैं इन फ्लैटों के कारण बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन फ्लैटों को लेकर जल्द मैं हरियाणा सरकार और फरीदाबाद प्रशासन को पत्र लिखूंगा कि शहर के गरीब यहाँ जल्द बसाये जाएँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here