गुरमीत नहीं हनीप्रीत हिंसा की दोषी, मंत्रियों और विधायकों के नाम भी शामिल

0
235
Private Advertisement

Chandigarh News (Citymail News)  हिंसा के लिए गुरमीत सीधे दोषी नहीं एसआइटी ने हिंसा का ठीकरा हनीप्रीत, विपासना और आदित्य इंसा के सिर फोड़ा! साध्वियों से दुष्कर्म मामले में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह को एसआइटी ने पंचकूला हिंसा के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार नहीं माना है। एसआइटी (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) के अनुसार पंचकूला ¨हसा की रूपरेखा उनकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत ने तैयार की थी। हनीप्रीत को जुलाई में ही इस बात का आभास हो गया था कि सीबीआइ कोर्ट से डेरा मुखी को सजा हो सकती है। इसलिए हनीप्रीत ने गुरमीत सिंह के बचाव की तैयारियां शुरू कर दी थीं।
पंचकूला हिंसा की जांच कर रही एसआइटी की चार्जशीट में डेरा प्रमुख से कहीं अधिक दोषी हनीप्रीत को ठहराया गया है। बता दें कि हिंसा से करीब 120 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति का नुकसान हुआ था और 42 लोगों की मौत हो गई थी। एसआइटी ने हाल ही में पंचकूला कोर्ट में करीब 1800 पेज की चार्जशीट दाखिल की थी। इसमें एक हजार पेज की मूल चार्जशीट और 800 पेज की सप्लीमेंट्री चार्जशीट शामिल है। एसआइटी प्रमुख ने डेरा मुखी को क्लीन चिट दिए जाने के तथ्य से साफ इनकार करते हैं, लेकिन सूत्रों का दावा है कि उक्त तथ्य सही हैं। चार्जशीट में इस बात का उल्लेख भी है कि पंचकूला ¨हिंसा में हनीप्रीत का साथ विपासना और आदित्य इंसा ने दिया था। हनीप्रीत ने 25 अगस्त को पंचकूला में भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी 45 सदस्यीय कमेटी को सौंपी थी। डेरे की राजनीति विंग को निर्देश दिए गए थे कि 25-25 सदस्यों को साथ लेकर भाजपा सरकार के मंत्रियों और विधायकों पर दबाव बनाएं। 1 एसआइटी ने अपनी चार्जशीट में कुछ विधायकों और मंत्रियों के नाम और उनसे हुई बातचीत का ब्योरा भी पेश किया है। रिकार्डिग में किसी अशोक का जिक्र है, जो यह कह रहा है कि उसे अंबाला जिले के एक मंत्री का आशीर्वाद प्राप्त है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here