बढ़ते प्रदूषण पर मंत्री विपुल गोयल के इस्तीफे पर अड़े कांग्रेसी,

0
217
Faridabad News (Citymail News )  फरीदाबाद को देश का सबसे ज्यादा प्रदूषित व जहरीली हवा वाला लगातार शहर घोषित होने के बाद सोमवार को कांग्रेेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी के संयोजन में फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र के सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों में अनोखा प्रदर्शन कर हजारों मॉस्क बांटकर लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक किया। कांग्रेसियों ने  सेक्टर-7-10 चौक, खेड़ी चौक, लघु सचिवालय सेक्टर-12 में लोगों को मॉस्क बांटते हुए फरीदाबाद के बी.के. चौक पर पहुंचे, जहां जोरदार रोष प्रदर्शन कर प्रदेश के पर्यावरण एवं उद्योगमंत्री विपुल गोयल का इस्तीफा मांगा।
कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने इस दौरान भाजपा सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी भी की। प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथों में भाजपा सरकार मुर्दाबाद, प्रदूषण कम करो, पर्यावरण मंत्री इस्तीफा दो और फरीदाबाद के बच्चों का भविष्य सुरक्षित नारे लिखी हुई पट्टियां अपने हाथों में ली हुई थी।
फरीदाबाद में पहली बार हुए इस तरह के अनोखे सांकेतिक प्रदर्शन में कांग्रेस के जिला प्रभारी एवं प्रदेश महासचिव मोहम्मद बिलाल, ओबीसी सैल हरियाणा के प्रदेश चेयरमैन राकेश भड़ाना, राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के जोन प्रभारी डा. धर्मदेव आर्य, एनआईटी के प्रभारी अनीशपाल, राजेश आर्य, नीरज गुप्ता, विजय कौशिक, संजय सोलंकी जैसे वरिष्ठ नेता भी विशेष रुप से मौजूद थे।
कांग्रेसियों ने इस दौरान स्कूटर, मोटरसाइकिल सवार, ऑटो चालक, ट्रक चालकों, साईकिल सवार और राहगीरों को अपने हाथों से उनके मुंह पर मॉस्क लगाकर उन्हें स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने का संदेश दिया। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी ने कहा कि आज फरीदाबाद एनसीआर ही नहीं बल्कि का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है व यह हालात कम होने के बजाए निरंतर बढ़ते जा रहे है और इस बढ़ते प्रदूषण और जहरीली हवाओं से फरीदाबादवासियों का जीना मुश्किल हो गया है।
ये हालात तो तब है, जब स्वयं पर्यावरण एवं उद्योगमंत्री विपुल गोयल फरीदाबाद से ही संबंध रखते है। यहां तक कि प्रदूषण को कम करने के लिए एनजीटी द्वारा दिल्ली में बुलाई गई बैठक में भाग लेने का समय भी मंत्री महोदय के पास नहीं है।
 चौधरी ने कहा कि लगभग 15 दिन पूर्व उन्होंने बढ़ते प्रदूषण को लेकर प्रदेश सरकार से सकारात्मक कदम उठाने की मांग करते हुए चेतावनी दी थी कि अगर जल्द ही फरीदाबादवासियों को सरकार द्वारा प्रदूषण से राहत नहीं दिलाई गई तो वह चुप नहीं बैठेंगे और प्रदर्शन आदि करके लोगों को जागरुक करने का काम करेंगे। इसके बावजूद भी पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी और फरीदाबाद में जहरीली हवाएं और बढ़ती गई।
उन्होंने व्यंगय कसते हुए कहा कि फरीदाबाद में सत्ता की मलाई खाने के लिए मंत्रियों व बड़े नेताओं में एक दूसरे को सार्वजनिक स्थानों पर नीचा दिखाने की होड़ तो लगी हुई है, लेकिन कोई भी क्षेत्रवासियों की जिंदगियों की ओर नहीं सोच रहे। उन्होंने कहा कि प्रदूषण की मात्रा बढक़र 461 को  पार कर गई है, जो देश में सबसे ज्यादा खतरनाक स्थिति है और अगर इस पर जल्द ही काबू नहीं किया गया तो यहां महामारी जैसे हालात पैदा हो सकते है।
 
Googleadvertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here