मैन पावर के बिना किसी भी उद्योग को सफल नहीं बनाया जा सकता: श्रम सचिव

0
24
Google Advertisement

FARIDABAD NEWS (CITYMAIL NEWS ) हरियाणा के श्रम सचिव डा0 महाबीर सिंह ने उद्योग प्रबंधकों से आह्वान किया है कि उत्पादकता के लिये सबसे महत्वपूर्ण घटक श्रमशक्ति का विशेष ध्यान रखे।
फरीदाबाद इंडस्ट्रीज एसोसिएशन परिसर में उद्योग प्रबंधकों से खचाखच भरे हाल में अपने संबोधन में श्रमसचिव ने अपने सारगर्भित उद्बोधन में कहा कि किसी भी औद्योगिक संस्थान के लिये पांच एम में से मैनपावर सबसे महत्वपूर्ण है इसके बिना शेष चार मशीन मैटीरियल मनी और मार्किट सभी बेकार है।
श्रम विभाग की व्याख्या करते कहा कि इसका उद्देश्य प्रोडक्टीविटी विद सोशल जस्टिस रहा है। इसका लोगो स्पष्ट करता है कि पीस हारमनी एवं सेफटी अति आवश्यक है।

अवेयरनैस एंड इन्ट्रैक्शन फार ईज आफ डुईंग बिजनेस विषय पर आधारित इस कार्यक्रम में बोलते हुए आपने कहा कि ईज आफ डुईंग बिजनेस में हरियाणा २०१५ में देश के १४वें नम्बर पर था, जो आज उत्तरी भारत में पहले और पूरे देश में तीसरे नम्बर पर है। श्रम विभाग की १५ सर्विस ऑन लाईन हैं और हम नहीं चाहते कि आपको व्यक्तिगत रूप से किसी भी काम के लिये श्रम विभाग के किसी कार्यालय में आना पड़े।

उन्होंने कहा कि विकास के लिये शक्ति एवं न्यायसंगत व्यवस्था अति आवश्यक है। उत्पादकता बढ़ेगी तो श्रमिकों का विकास भी होगा, यह निश्चित है।

इससे पूर्व एसोसिएशन के प्रधान संजीव खेमका ने सभी आगन्तुकों का स्वागत करते कहा कि पिछले तीन वर्ष में श्रम विभाग ने काफी सुधार किये हैं। कार्यप्रणाली में पारदर्शिता एवं सहयोग की भावना आई है।

एसोसिएशन के पूर्व प्रधान कोहेनूर आफ फरीदाबाद के सी लखानी ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए मींटिंग को मीनिंगफुल बताया। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार रहित पारदर्शी सरकार का नमूना श्रम विभाग के यह उच्चाधिकारी कहे जा सकते हैं। श्री लखानी ने कहा कि फरीदाबाद में श्रमिक प्रबंधन संबंध प्यार भरे एवं सौहार्दपूर्ण हैं। सभी श्रम शक्ति का महत्व जानते हैं। श्री लखानी ने कहा कि ईएसआई व्यवस्था में सुधार की जरूरत है। अत: श्रमसचिव महोदय को इस ओर विशेष ध्यान देना चाहिए। औद्योगिक संस्थान एवं श्रमिक इसके लिये धन देते हैं। अत: सभी और समय पर इलाज श्रमिकों का अधिकार है। श्री लखानी ने श्रमसचिव से उद्योग पंजीकरण करने में से छोटे-छोटे एतराज को नजरअंदाज करने का अनुरोध करते कहा कि इससे पंजीकृत उद्योगों की संख्या बढ़ेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here