Home सिटीमेल स्पेशल हरियाणा में कांग्रेस, जजपा व आप के गठबंधन की निकली हवा

हरियाणा में कांग्रेस, जजपा व आप के गठबंधन की निकली हवा

NEW DELHI NEWS (CITYMAIL NEWS ) हरियाणा में कांग्रेस, जजपा व आम आदमी पार्टी के गठबंधन की खबर शाम होते होते हवा हो गई। बुधवार से ही यह चर्चा जोरों पर थी कि दिल्ली व हरियाणा में तीनों दलों के बीच चुनावी गठबंधन हो गया है। इस गठबंधन के अंतर्गत हरियाणा में कांग्रेस 6, जजपा 3 व आप 1 सीट पर चुनाव की शर्त पर तीनों दलों में समझौता होने की बात सामने आईं। इसके अलावा दिल्ली में भी चार और तीन सीटों पर आप व कांग्रेस में चुनाव लडऩे पर समझौता होने की खबर सोशल मीडिया पर छाई रही।

जैसे ही यह खबर सामने आई तो सभी दलों के उम्मीदवार व राजनैतिक विश्लेषक इन दलों के गठबंधन व चुनावी जमा-घटा पर गणित लगाते दिखाई दिए। इन दलों के गठबंधन होने की खबर के तत्काल बाद ही भाजपा व इनेलो के बीच भी गठबंधन को लेकर दोनों दलों में बातचीत की खबरों ने राजनीति को हिला कर रख दिया। खबर आई कि यदि कांग्रेस ने इन दोनों दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ा तो जाट वोट बैंक को प्रभावित करने के लिए भाजपा भी इनेलो से हाथ मिला सकती है।
चर्चा यह भी चली कि कांग्रेस को जजपा के जाट वोट बैंक का लाभ ना मिले,इसलिए भाजपा भी इनेलो को अपने साथ लाकर तीनों दलों के अंकगणित को बिगाड़ सकती है। इस दौरान यह भी बात सामने आने लगी कि भाजपा किसी तरह से ओमप्रकाश चौटाला को तिहाड़ से बाहर लाकर प्रचार कार्य में झोंक सकती है।

यह खबरें हकीकत के आधार पर सामने आती, उससे पहले ही कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व हरियाणा के प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने आप व जजपा से गठबंधन होने की चर्चाओं की हवा निकाल दी। उन्होंने मीडिया को दिए बयान में साफ कहा कि कांग्रेस, जजपा व आप में किसी प्रकार को कोई समझौता नहीं हो रहा है। उन्होंने हरियाणा में किसी प्रकार के समझौते को खारिज करते हुए कहा कि सांसद होने के नाते उनका सभी दलों के सांसदों से मिलना होता रहता है, पंरतु इसका यह मतलब नहीं कि इस मेलजोल के परिणाम गठबंधन के रूप में बाहर आएं। उन्होंने दिल्ली में आप के साथ गठबंधन को लेकर अनभिज्ञता जताई और कहा कि इस बारे में दिल्ली कांग्रेस के नेता ही बेहतर बता सकते हैं। इस प्रकार से शाम होते होते कांग्रेस, जजपा व आप के गठबंधन को लेकर आजाद ने अपने सभी पत्ते खोल दिए। वहीं आप सांसद संजय सिंह ने भी कांग्रेस के साथ किसी भी समझौते से साफ तौर पर इंकार कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here