प्रमोशन की आड़ में लाखों रुपए दांव पर, हाईकोर्ट पहुंचा मामला - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Sunday, March 8, 2020

प्रमोशन की आड़ में लाखों रुपए दांव पर, हाईकोर्ट पहुंचा मामला


Faridabad News (Citymail News ) सुपरीडेंट इंजीनियर की प्रमोशन पाने के लिए नगर निगम फरीदाबाद के अधिकारियों में जमकर लॉबिंग का खेल चल रहा है। कई अधिकारी प्रमोशन पाने के लिए फरीदाबाद से चंडीगढ़ की दौड़ लगाए हुए हैं, जबकि इनके खिलाफ कई अधिकारी हाईकोर्ट में दस्तक देकर सारे मामले को उलझाए हुए हैं। वहीं डिस्टेंस एजुकेशन(प्राइवेट एजुकेशन से डिग्री) के जरिए  डिग्री हासिल करने वाले अधिकारियों की शिकायत भी सरकार में एक से दूसरी टेबल पर उछाल मार रही है। फरीदाबाद नगर निगम के चार एक्सईएन स्तर के अधिकारी धर्मसिंह नरवत, राधेश्याम शर्मा, दीपक किंगर व आनंद स्वरूप प्रमोशन पाने के लिए दिन रात एक किए हुए हैं। बताया गया है कि इन चारों को एस.ई. के पद पर प्रमोशन मिलना लगभग तय हो चुका है। मुख्यमंत्री कार्यालय के प्रधान सचिव राजेश कुमार खुल्लर से इन अधिकारियों की फाईल को हरी झंडी मिल चुकी है। इनके अलावा एस.ई. की प्रमोशन पाने वालों में पांचवा नाम ओमवीर सिंह का भी लिया जा रहा है। बताया गया है कि इन सभी के साथ ओमवीर सिंह भी एस.ई. बनने वाले अधिकारियों में शामिल हो सकते हैं। जबकि वहीं दूसरी ओर नगर निगम के तीन एक्सईएन ओपी कर्दम, अशोक रावत व विजय ढाका खुद को सीनियर मानते हुए हाईकोर्ट की शरण में चले गए हैं। खबर है कि हाईकोर्ट में तीन याचिका दायर होने के  बाद सरकार फिलहाल बैक फुट पर आ गई है। यही वजह है कि प्रमोशन वाले आदेश पिछले सप्ताह जारी होने थे, जोकि अब तक नहीं किए गए हैं। 
बताया गया है कि हाईकोर्ट जाने वाले एक्सईएन अशोक रावत को भी सरकार प्रमोशन वाली सूची में स्थान दे सकती है। इस प्रकार से कभी भी 6 एक्सईएन स्तर के अधिकारियों को एस.ई. बनाया जा सकता है। हरियाणा में एसई की कुल 12 पोस्ट हैं। इनमें से 6 पोस्ट रिक्त चली आ रही हैं, जिन्हें भरने के लिए राज्य में प्रमोशन का खेल खेला जा रहा है। प्रमोशन के लिए अधिकारियों में साम, दाम, दंड व भेद की राजनीति चल रही है। चर्चा है कि कई अधिकारी प्रमोशन पाने के लिए लाखों रुपए दांव पर लगाए हुए हैं। राजनैतिक सिफारिश के अलावा सरकार में उच्च पदों पर बैठे अधिकारियों को लाखों रुपए की पेशकश भी की गई है। प्रमोशन के लिए चंडीगढ़ तक दौड़ लगाने वालों में तो कई अधिकारी  तो एस.ई. पोस्ट के काबिल ही नहीं हैं। मगर खेल प्रमोशन का है तो वह इस मौके को हाथ से गंवाना नहीं देना चाहते। 12 पोस्ट फुल होने के बाद फिर कब प्रमोशन का रसगुल्ला मिलेगा, इसका किसी को नहीं पता। इसलिए सभी अधिकारी इस खेल में जमकर हाथ आजमा रहे हैं। 
लोकल बॉडी हरियाणा खेल रहा है जांच का खेल
 इस मामले में शिकायतकर्ता एवं आरटीआई एक्टिविस्ट विष्णु गोयल ने हरियाणा अर्बन लोकल बॉडी की जांच पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। गोयल को जांच में शामिल होने के लिए 6 मार्च को बुलाया गया था। पंरतु गोयल ने अपने रिप्लाई में विभाग को स्पष्ट कहा है कि आप जांच के नाम पर खेल रहे हो। जब एक तरफ जांच चल रही है तो दूसरी तरफ एस.ई. प्रमोशन की फाईल सीएम दफ्तर कैसे पहुंच गई। विष्णु गोयल ने कहा कि मुझे लोकल बॉडी की जांच पर विश्वास नहीं रहा। इसलिए उनकी मांग है कि स्टेट विजिलेंस ब्यूरो से इस पूरे खेल की निष्पक्ष जांच करवाई जाए। उन्होंने आरोप लगाया है कि लाखों रुपए की एवज में प्रमोशन का यह खेल पूरी बेशर्मी के साथ खेला जा रहा है। 


No comments:

Post a Comment

Ads