फरीदाबाद मों कालाबाजारी व जमाखोरी करने वालों पर होगी बड़ी कार्रवाई:डीसी - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Friday, March 20, 2020

फरीदाबाद मों कालाबाजारी व जमाखोरी करने वालों पर होगी बड़ी कार्रवाई:डीसी


Faridabad News (citymail news ) उपायुक्त यशपाल व नगर निगम आयुक्त यश गर्ग की अध्यक्षता में लघु सचिवालय के सभागार में जिला प्रशासन के विभिन्न विभागों, स्वास्थ्य विभाग तथा निजी अस्पतालों के डाक्टर्स की बैठक हुई, जिसमें कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण को रोकने व अन्य बचाव के लिए की जा रही तैयारियों पर विचार-विमर्श किया गया।


उपायुक्त ने कहा कि सभी संबंधित विभाग कोरोना के संबंध में भारत सरकार व प्रदेश सरकार की ओर से मिलने वाले दिशा-निर्देश की अनुपालना सुनिश्चित करें। अस्पतालों में डाक्टर्स व नर्स को भी सही ट्रैनिंग दी जाए कि किस प्रकार उन्हें रोगी का इलाज करना है। सभी अस्पतालों में इलाज के लिए हरसंभव तैयारी होनी चाहिए। सभी अस्पताल आइसोलेशन वार्ड अवश्य बनाएं तथा उनमें इलाज से संबंधित सभी सुविधाएं भी होनी चाहिएं। इसी प्रकार अस्पतालों में संबंधित क्षेत्र के थाना अध्यक्ष के नंबर होने चाहिएं, ताकि किसी भी परिस्थिति में जरूरत पड़ने पर उन्हें मदद उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि दैनिक जीवन की चीजों व वस्तुओं की कालाबाजारी व स्टाॅक पर कड़ी नजर रखी जाए। हर कोई व्यक्ति या दुकानदार बहुत अधिक मात्रा में खाने-पीने का सामान व दैनिक उपयोग की वस्तुओं का स्टाॅक करता मिलता है, तो उसका सारा सामान भी जब्त किया जाएगा और उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी अमल में लाई जाएगी। डा. यश गर्ग ने कहा कि कोरोना से लोगों को घबराना नहीं चाहिए, बल्कि सावधानी बरतना जरूरी है।


आमजन के लिए जरूरी सूचना : विश्व स्वास्थ्य संगठन के डा. संजीव ने बताया कि जनता को अपने आसपास या कार्यक्षेत्र पर साफ-सफाई करते रहना चाहिए। माॅस्क हर व्यक्ति को लगाने की आवश्यकता नहीं होती। माॅस्क तीन स्थितियों में लगाना जरूरी है, जिसमें पहला वह व्यक्ति जो किसी प्रभावित क्षेत्र से आया हो, दूसरा अस्पतालों में जो डाक्टर या नर्स मरीजों के संपर्क में रहते हैं तथा तीसरा जिस व्यक्ति को खांसी या जुकाम हो। इसके अलावा स्वस्थ व्यक्ति को माॅस्क लगाने की आवश्यता नहीं है। इसी प्रकार सेनेटाइजर की जगह अच्छे साबुन का भी इस्तेमाल किया जा सकता है, जोकि आमतौर पर हर घर में मिलता है। इसी प्रकार गमछा टाइप कपड़े का उस स्थिति में प्रयोग किया जा सकता है, जब व्यक्ति को भीड़ वाले स्थान पर जाना जरूरी हो जाए। बाद में उसे धोना भी आसान है।  मीटिंग में अतिरिक्त उपायुक्त आरके सिंह, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, सीटीएम बलिना, सीएमओ डा. कृष्ण कुमार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


No comments:

Post a Comment

Ads