मंत्री पुत्र ने कहा आखिर कौन खा गया करोड़ों रुपए के टायलेट - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, March 2, 2020

मंत्री पुत्र ने कहा आखिर कौन खा गया करोड़ों रुपए के टायलेट



Faridabad News (citymail news  )कौन खा गया करोड़ों रुपए की ग्रांट, आखिर कहां गई केंद्र सरकार की इतनी बड़ी रकम, यह मामला नगर निगम की बैठक में छाया रहा। सोमवार को हुई नगर निगम सदन की बैठक में उस समय सभी सन्न रह गए, जब नगर निगम के सीनियर डिप्टी मेयर देवेंद्र चौधरी ने केंद्र सरकार से आई 14 करोड़ रुपए की ग्रांट को खुर्द-बुर्द करने का मुद्दा उठाया। केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के पुत्र एवं सीनियर डिप्टी मेयर देवेंद्र चौधरी द्वारा करोड़ों रुपए के इस घोटाले को उठाने के बाद सदन की बैठक में पार्षदों के हौंसले बुलंद हो गए। हालांकि बैठक से एक दिन पहले भाजपा पार्षदों को नगर निगम का बजट पारित करने के फरमान जारी किए गए थे। अपने हाईकमान के आदेश पर पार्षदों ने नगर निगम का बजट तो पारित किया, मगर उन्होंने अधिकारियों पर जमकर हमला भी बोला। पार्षद दीपक चौधरी ने जैसे ही शहर में टायलेट ना होने का मुद्दा उठाया तो तत्काल सीनियर डिप्टी मेयर देवेंद्र चौधरी मुखर हो गए। उन्होंने साफ कहा कि केंद्र सरकार से शहर में जगह जगह टायलेट लगाने व स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत 14 करोड़ रुपए की ग्रांट आई थी । पंरतु शहर में आज कहीं भी टायलेट नहीं हैं। यदि कहीं लगे भी हुए हैं तो वह जर्जर अवस्था में है, या फिर बंद पड़े हुए हैं। आखिर केंद्र सरकार से आए 14 करोड़ रुपए कहां गए। उन्होंने नगर निगम अधिकारियों से कहा कि इस मामले की जांच होनी चाहिए और इस ग्रांट को गबन करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए। देवेंद्र चौधरी ने कई मु्दों पर अधिकारियों को घेरा और पार्षदों की मांगों को जायज ठहराया। बता दें कि नगर निगम के अधिकारियों ने अपनी करतूतों से पूरे प्रदेश में इसकी छवि को गहरा धक्का पहुंचाया है। जैसे ही सरकार के समक्ष नगर निगम फरीदाबाद का नाम आता है तो उससे पहले यहां व्याप्त भ्रष्टाचार की बातें सामने आती हैं। सदन की बैठक में मंत्री पुत्र एवं सीनियर डिप्टी मेयर देवेंद्र चौधरी द्वारा प्रशासन पर सवाल खड़े करने व सरेआम गबन के आरोप लगाने के बाद यह साबित हो गया है कि नगर निगम भ्रष्टाचार में अव्वल स्थान हासिल कर चुका है


No comments:

Post a Comment

Ads