NIT इंडस्ट्री एरिया में जांच करने पहुंची नगर निगम की टीम, सब कुछ मिला ठीक-ठाक - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, March 17, 2020

NIT इंडस्ट्री एरिया में जांच करने पहुंची नगर निगम की टीम, सब कुछ मिला ठीक-ठाक


Faridabad News (citymail news ) मीडिया में प्रकाशित खबरों के बाद मंगलवार की दोपहर नगर निगम बल्लभगढ़ की पूरी टीम एनआईटी औद्योगिक क्षेत्र में निर्माणधीन एक फैक्ट्री की जांच करने पहुंची। ज्वाइंट कमिश्नर सतबीर मान भी इस जांच में शामिल हुए और लगभग आधे घंटे तक फैक्ट्री में डटे रहे। शिकायत मिली थी कि इस फैक्ट्री में बिना नक्शे के निर्माण कार्य किया जा रहा है तथा वहां प्लाटिंग की शिकायत भी निगम प्रशासन के पास पहुंची थी। मीडिया में प्रकाशित खबरों पर संज्ञान लेते हुए बल्लभगढ़ के ज्वांईट कमिश्नर सतबीर मान, एक्सईएन इंफोर्समेंट रवि शर्मा, एसडीओ विनेाद कुमार एवं बिल्डिंग इंस्पेक्टर सुमेर सिंह पूरी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। वहां पहुंचने के बाद नगर निगम नेे प्लाट नंबर 53 ए के सभी नक्शे व अन्य कागजों की जांच की। इस दौरान पता चला कि यह फैक्ट्री नरेश ढल के नाम से है और उसका औद्योगिक नक्शा ऑनलाईन पास हुआ है। इसके अलावा बाकि कागज भी नियमों के अनुरूप हैं। फैक्ट्री मालिक नरेश ढल ने निगम अधिकारियों को सभी कागज भी दिखाए।


करीब एक घंटे से भी अधिक समय तक निगम अधिकारी जांच पड़ताल में जुटे रहे। इस दौरान प्लानिंग विभाग से सीनियर अधिकारी बीएस ढिल्लो व एटीपी जयप्रकाश चंदीला भी फैक्ट्री में पहुंचे। इस जांच पड़ताल में सभी काम नियमों के अनुरूप होते हुए पाया गया। इससे पहले मीडिया में खबरें प्रकाशित हुई थी कि प्लाट नंबर 53 ए में गलत तरीके से निर्माण व प्लाटिंग की जा रही है। परंतु निगम अधिकारियों की जांच पड़ताल के बाद मौके पर सभी कार्य नियमों के अनुरूप होते हुए मिले। फैक्ट्री मालिक नरेश ढल का कहना है कि निगम अधिकारियों ने पूरी जांच की और तसल्ली से सभी कागजातों की चैकिंग भी की है। श्री ढल ने कहा कि उन्होंने सभी काम सरकारी नियमों के अनुरूप करवाया है और उनकी फैक्ट्री में किसी प्रकार की अनियमितता नहीं पाई गई है। एक्सईएन इंफोर्समेंट रवि शर्मा ने कहा कि उन्होंने पूरी जांच कर ली है। नक्शा ऑनलाईन पास हुआ है और नक्शे के अनुरूप ही मौके पर काम चल रहा था। निगम की टीम ने बारीकी से जांच पड़ताल की है और सभी कार्य निगम अनुसार ही होते हुए मिले हैं।


बता दें कि एनआईटी इंडस्ट्रीज एरिया में बंद पड़े उद्योगों में आमतौर पर अवैध रूप से सबडिवीजन व निर्माण का धंधा चल रहा है। जिससे राज्य सरकार एवं नगर निगम को राजस्व के तौर पर नुक्सान पहुंचाया जाता है। पिछले दिनों प्लाट नंबर 53ए में भी सबडिवीजन व निर्माण होने की खबरें चर्चाओं में आई। लोगों ने क्यास लगाने शुरू कर दिए कि उक्त प्लाट में भी इसी प्रकार से सबडिवीजन व निर्माण किया जा रहा है। जैसे ही यह खबर सुर्खियां बनीं तो नगर निगम की टीम मौके पर पहुंच गई। पंरतु पूरी तरह से जांच करने के बाद नगर निगम ने उक्त प्लाट पर बन रहे निर्माण को ना केवल हरी झंडी दे दी, बल्कि सबडिवीजन होने की खबरों को भी पूरी तरह से नकार दिया। निगम अधिकारियों की जांच के बाद फैक्ट्री मालिक को बड़ी राहत मिली है।






No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages