फरीदाबाद सैक्टर 22 की व्यथा, 100 रुपए खर्च करके मिलेगा 100 रुपए का गेंंहू - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, May 21, 2020

फरीदाबाद सैक्टर 22 की व्यथा, 100 रुपए खर्च करके मिलेगा 100 रुपए का गेंंहू


Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद में डिस्टेंस आधार पर लोगों को गेंहू के लिए कूपन बांटने की शुरूआत कर दी गई है।  लेकिन लोगों की शिकायत है कि इसमें बड़े पैमाने पर अनियमितता बरती जा रही है। ऐसी ही शिकायत है वार्ड नंबर 4 के अंतर्गत आने वाले सैक्टर 22 में रहने वाले लोगों की। इस वार्ड के लिए कूपन बांटने के लिए दो सेंटर बनाए गए हैं। इनमें से एक सेंटर सैक्टर 22 के निम्स अस्पताल के पास है और दूसरा सेंटर बल्लभगढ़ के सरकारी गल्र्स स्कूल नजदीक अंबेडकर चौक पर बनाया गया है। सैक्टर 22 के बूथ नंबर 56 व 57 में रहने वाले अनेक लोगों को बल्लभगढ स्थित सेंटर से कूपन बांटे जा रहे हैं। लोगों का कहना है कि उन्हें इस कूपन के जरिए मात्र पांच किलो गेंहू मिल रहा है। इस गेंहू की कीमत अधिक से अधिक सौ रुपए होगी। जिसके लिए पहले उन्हें कूपन लेने के लिए बल्लभगढ़ जाना होगा। इस आने जाने में ही उनके सौ रुपए खर्च हो जाएंगे, कई घंटे लगेंगे वह अलग। इससे उन्हें क्या लाभ होगा और प्रशासन उनके लिए क्या फायदा करेगा, यह बात उनकी समझ से बाहर है। इस मामले को लेकर नगर निगम के पूर्व डिप्टी मेयर एडवोकेट राजेंद्र भामला का कहना है कि यह सरासर अन्याय है। पांच किलो गेंहू लेने के लिए गरीब लोगों को पहले सौ रुपए खर्च करने होंगे। इसके बाद उन्हें लाईन में लगकर गेंहू लेना होगा। यानि कि सौ रुपए कीमत का गेंहू लेने के लिए लोगों को पहले कूपन लेने के लिए ही सौ रुपए खर्च करने होंगे। उन्होंने कहा कि प्रशासन के अधिकारी इस बारे में जरा भी नहीं सोचते। उनका यह भी कहना है कि एक परिवार के एक ही व्यक्ति को पांच किलो गेंहू के लिए कूपन दिया जा रहा है। इससे आम आदमी को कितनी राहत मिलेगी , यह सोचने का विषय है।वहीं इस बारे में नगर निगम बल्लभगढ़ के ज्वाइंट कमिश्रर सतबीर सिंह मान का कहना है कि उनकी जानकारी में यह समस्या आ चुकी है। उन्होंने इस बारे में जिला खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों से भी बात की है, मगर यह दिक्कत जिला स्तर पर नहीं है। दरअसल सारी व्यवस्था ऑनलाईन होने की वजह से यह समस्या आई है। लोगों की परेशानी अपनी जगह बिल्कुल ठीक है। मगर ऑनलाईन व्यवस्था की वजह से कंप्यूटर से इन लोगों के नाम बल्लभगढ़ में जोड़ दिए गए हैं। वह फिर भी पूरी कोशिश करेंगे कि इस समस्या का समाधान करवा सकें। वही वार्ड की पार्षद शीतल खटाना के पति और पार्षद जयवीर खटाना का कहना है कि वह अपने स्तर पर इसका समाधान करवाने का प्रयास करेंगे।  

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages