भारत में बढ़ी कोरोना की रफ्तार, 24 घंटे में 6767 नए केस आए और 147 की मौत हुई - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, May 23, 2020

भारत में बढ़ी कोरोना की रफ्तार, 24 घंटे में 6767 नए केस आए और 147 की मौत हुई


New Delhi News (citymail news ) देश में अब कोरोना की रफ्तार इतनी तेज हो गई है कि पिछले 24 घंटे में ही नए केसों की संख्या 6767 बढ़ गई है, जबकि इस अवधि में 147 लोगों की कोविड-19 के चलते मौत भी हुई है। इस तरह से रविवार को देश में कोविड पॉजीटिव की संख्या बढक़र 1 लाख 32 हजार के पास पहुंच गई है तथा कुल मरने वालों की संख्या 3867 हो गई है। इस तरह से अब देश में कोविड मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि इस संख्या में सुधार भी हो रहा है। विभाग ने कोविड मरीजों के  अस्पताल से डिस्चार्ज होने वालों की संख्या 55 हजार के पास बताई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 55000 लोग इस बीमारी से ठीक होकर घर जा चुके हैं। फिलहाल देश भर में कोविड सक्रिय मरीजों की तदाद 73560 हो गई है। विभाग के अनुसार वह इस बीमारी पर कंट्रोल पाने के लिए भरसक प्रयासों में जुटे हैं, जिसके  परिणाम स्वरूप लोग इस बीमारी के चंगुल से बच रहे हैं। उनके अनुसार महाराष्ट में इस समय 48 हजार के आसपास मरीजों की संख्या हो गई है, जबकि वहां कोविड से होने वाली मृत्यु की दर 1600 हो गई है। इसी प्रकार से गुजरात में 14 हजार के पास यह संख्या है और मरने वालों की गिनती 829 हो गई है। दिल्ली में यह तादाद 12910 और मौतों की संख्या 231 पर पहुंच चुकी है। विभाग के आंकड़ों के अनुसार राजस्थान में 6742 कोरोना केस आए हैं तो  मौतों की गिनती 160 पर पहुंच गई है। राजस्थान में कोरोना को कंट्रोल करने में काफी मेहनत की गई है, यही वजह है कि वहां इसे अब नियंत्रित होते हुए देखा जाने लगा है। मध्यप्रदेश में 6731 पर कोरोना मरीजों की संख्या पहुंच गई है, जबकि वहां हुई मौतों की तादाद 281 पर पहुंच गई है। यूपी में 6055 पर कोरोना पहुंच गया है, वहां होने वाली मौतों की संख्या भी कंट्रोल में होते हुए 155 हो गई है। यूपी में भी कोरोना कंट्रोल करने को लेकर किए गए प्रयासों का ही नतीजा है कि वहां बढ़ते हुए केसों को रोका जा रहा है। पश्चिम बंगाल में 3459 कोरोना केस सामने आए हैं और मौतों की संख्या 250 तक पहुंची है। बता दें कि बंगाल इस समय कोरोना के साथ साथ खाड़ी से उठे तूफान से भी जूझ रहा है। वहां तूफान आने से ही सैंकड़ों मौतें होने की खबर है। पश्चिम बंगाल में इस दोतरफा मुसीबत में लोगों को खौफजदा कर दिया है। आंध्रप्रदेश, बिहार, हरियाणा, पंजाब जम्मू कश्मीर, तेलगू देशम व कर्नाटका में भी कोरोना ने अपना आंतक मचाया हुआ है। इन राज्यों में कोरोना पीडि़तों की संख्या अन्य राज्यों के मुकाबले कम हैं, इन राज्यों में अभी तक 16 हजार केस ही रिकार्ड किए गए हैं, जबकि मौतों की संख्या एक हजार के आसपास है। इन राज्यों में कोरोना कंट्रोल को लेकर भरसक प्रयास किए जा रहे हैं, जिसके  परिणाम स्वरूप खासा लाभ भी होता दिखाई दे रहा है। देश भर में 31 मई तक लॉकडाऊन की स्थिति लागू है, मगर अधिकांश राज्यों में बड़ी छूट देकर बाजार व परिवहन सेवा को खोल दिया गया है, जिसके बाद से कोरोना मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है। लोगों का मानना है कि छूट से यह स्थिति अधिक विस्फोटक हो सकती है, मगर वहीं स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि अब हमें कोरोना को स्वीकार करते हुए इसके साथ जीने की आदत डालनी होगी। हमें इसका खुद ही बचाव करना होगा। कोरोना से बचाव की सबसे बड़ी दवा जागरूकता है। इसलिए सभी लोग इस बीमारी से जागरूक होकर लडें़, जिसका लाभ हर वर्ग व समुदाय को मिलेगा। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages