औद्योगिक नगरी फरीदाबाद को छोडक़र चले जा रहे हैं हजारों मजदूर,ठप्प रहेंगे उद्योग - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Sunday, May 10, 2020

औद्योगिक नगरी फरीदाबाद को छोडक़र चले जा रहे हैं हजारों मजदूर,ठप्प रहेंगे उद्योग


Faridabad News (citymail news ) इस औद्योगिक नगरी से लगातार मजदूर वर्ग का पलायन हो रहा है। उन्हें रोकने व ठहराने की सरकार की ऐसी कोई ठोस योजना नहीं है, जिससे उनका पलायन रूक सके। इस वजह से दिन रात मजदूर वर्ग इस औद्योगिक नगरी को छोडक़र जा रहे हैं। ऐसे में सबसे बड़ी दिक्कत फरीदाबाद के बड़े व छोटे सभी उद्योगों को झेलनी पड़ सकती है। हालांकि एक ओर सरकार कह रही है कि उद्योग धंधों की शुरूआत कर दी जाए, मगर दूसरी ओर श्रमिकों का लगातार पलायन भी करवाया जा रहा है। हजारों मजदूर इस शहर को छोडक़र पैदल ही अपने घरों की ओर कूच कर चुके हैं और बाकियों को सरकार अपनी बसों से यह शहर छुड़वा रही है। ऐसे में कारखाने व छोटे उद्योगों की क्या हालत होगी, इस पर अभी किसी का ध्यान नहीं है। हालांकि उपायुक्त यशपाल यादव के अनुसार फरीदाबाद में 600 उद्योगों को चलाने की अनुमति दी जा चुकी है। मगर इसमें से कितने उद्योग पटरी पर आ चुके हैं, इसकी ओर किसी का ध्यान नहीं है। उद्योगों के लिए कच्चा माल मिलना भी टेढी खीर साबित हो रहा है। देश भर में लॉकडाऊन की स्थिति की वजह से यातायात ठप्प है। ऐसे में उद्योगपति व श्रमिकों के सामने कितनी बड़ी चुनौती है, सरकार इसे समझ कर भी समझना नहीं चाह रही है। मजदूरों के सामने दिक्कत यह है कि वह बंद उद्योगों में काम कैसे करेंगे। उन्हें वेतन कौन देगा, खाने व किराया देने के लिए मुश्किल में हैं। ऐसे में उनके सामने बस एक रास्ता है कि अपने घर चले जाएं। यही वजह है कि फरीदाबाद को बसाने में मुख्य भूमिका निभाने वाले हजारों मजदूर इस औद्योगिक नगरी से नाता तोडक़र चले जा रहे हैं। 

No comments:

Post a Comment

Ads