फरीदाबाद में सरकार के खिलाफ जमकर की गई नारेबाजी, प्रदर्शन में नहीं दिखा सोशल डिस्टेंस - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, May 22, 2020

फरीदाबाद में सरकार के खिलाफ जमकर की गई नारेबाजी, प्रदर्शन में नहीं दिखा सोशल डिस्टेंस

Faridabad News (citymail news ) केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों एवं कर्मचारी संघों के आह्वान पर शुक्रवार को श्रम कानूनों को समाप्त करने, सरकारी विभागों का निजीकरण करने,डीए,एलटीसी व नई भर्ती पर  रोक लगाने, मजदूरों को वेतन न देने के खिलाफ शुक्रवार को सभी विभागों में हल्ला बोल प्रर्दशन किए गए। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के बेनर तले शारीरिक दूरी का कड़ाई से पालन करते हुए  बिजली,नगर निगम के तीनों जोनों, टूरिज्म निगम, हुड्डा,जन स्वास्थ्य, सिंचाई, पीडब्ल्यूडी बीएड आर,स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास विभाग,वन, पशुपालन एवं डेयरी, विकास एवं पंचायत विभाग सहित अन्य कई विभागों में हल्ला बोल प्रर्दशन किए गए। आंगनबाड़ी, आशा व मिड डे मील, ग्रामीण सफाई कर्मचारियों ने भी केन्द्र एवं राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ हल्ला बोला। सीआईटीयू (सीटू) एटक,इंटक, एचएमएस आदि ट्रेड यूनियन से जुड़े मजदूरों ने भी अलग अलग जगह प्रर्दशन किए। प्रर्दशनों के बाद ट्रेड यूनियन कौंसिल फरीदाबाद ने उपायुक्त कार्यालय पर केन्द्र एवं राज्य सरकार की मजदूर, कर्मचारी व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन उपायुक्त की गैर मौजूदगी में एसडीएम को सौंपा गया। इस प्रतिनिधि मंडल में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा,नरेश शास्त्री व अशोक कुमार,सीटू से निरंतर पराशर,लाल बाबू व सुधापाल , एटक से आरएन सिंह व बिशंम्बर सिंह,एचएमएस से एसडी त्यागी, आर डी यादव व राजपाल डांगी,इफ्टू से जवाहर लाल व इंटक से बिरेंद्र चोधरी आदि  शामिल थे। 
खास बात:     इस प्रदर्शन में सबसे खास बात यह रही कि इसमें सरकार द्वारा निर्धारित सोशल डिस्टेंस दिखाई नहीं दिया और प्रर्दशनकारियों में से अधिकांश ने मास्क का प्रयोग भी नहीं कर रखा था। इस प्रदर्शन को लेकर कर्मचारियों के पास किसी प्रकार की अनुमति थी या नहीं, ये भी वे ही जानें, मगर इस प्रदर्शन में जहां कर्मचारी सरकार पर जमकर गरज रहे थे , वहीं वह खुद सरकारी नियमों की कितनी पालना कर रहे थे, यह भी साफ दिखाई दे रहा था। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages