जिनके पास नहीं थे पैसे उन्हें भी फरीदाबाद से भेजा गया अपने घर, रांची रवाना हुई रेल - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, May 26, 2020

जिनके पास नहीं थे पैसे उन्हें भी फरीदाबाद से भेजा गया अपने घर, रांची रवाना हुई रेल


Faridabad News (citymail news ) औद्योगिक नगरी फरीदाबाद में देश के विभिन्न हिस्सों से काम या रोजगार के लिए हजारो की संख्या में लोग आते हैं। बीते दिनों लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूर अपने घरों को नहीं जा पाए। ऐसे में हरियाणा सरकार की ओर से निर्णय लिया गया कि जो मजदूर अपने घरों को जाना चाहते हैं और उनके पास पैसे भी नहीं है, तो सरकार की ओर से उन्हें निशुल्क उनके गृह जिलों व राज्यों को भेजने का निर्णय लिया। इसी कड़ी में ओल्ड फरीदाबाद रेलवे स्टेशन से 1602 प्रवासी लोगों को ट्रेन से रांची, झारखंड के लिए रवाना किया। एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार व एसडीएम बड़खल पंकज कुमार ने बताया कि सभी प्रवासी लोगों को निशुल्क उनके गृह राज्यों को भेजा गया है। सभी यात्रियों के रेलवे टिकट के पैसे का खर्च हरियाणा सरकार की ओर से वहन किया गया। इस अवसर पर एसडीएम सहित सभी अधिकारियों ने प्रवासी लोगों को सुखद यात्रा की कामना करते हुए विदाई दी। ट्रेन से गए सभी यात्रियों के लिए रास्ते में खाने-पीने के लिए फल- मीठा जल व फूड पैकेट्स इत्यादि उपलब्ध करवाए।

एसडीएम ने कहा कि सभी लोग खुशीपूर्वक व स्वस्थ रूप में अपने घर पहुंचे तथा कोरोना की परिस्थितियों में अपना व अपने परिवार का ध्यान रखें। साफ-सफाई व सोशल डिस्टेंसिंग, नियमित रूप से माॅस्क आदि का प्रयोग करने जैसी हिदायतों को अपनाएं, ताकि आप भी और आपके संपर्क में आने वाले सभी लोग स्वस्थ रहे। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि कोरोना की परिस्थितियां सामान्य होने पर एक बार फिर सभी प्रवासी श्रमिक वापस फरीदाबाद लौटेंगे तथा देश-प्रदेश के विकास एवं प्रगति में अपना पुनः सहयोग देंगे। उन्होंने बताया कि रांची के लिए जो ट्रेन आज फरीदाबाद से रवाना हुई, उसमें फरीदाबाद से 555 यात्री, गुरूग्राम से 400, झज्जर से 200, भिवानी से 200, सिरसा से 125, चरखी-दादरी से 25, नूंह से 40, कैथल से 45, रिवाड़ी से 10 व पलवल जिला से दो यात्री शामिल हैं। इस अवसर पर रेलवे के एरिया आफिसर एवं नोडल अधिकारी मधुकांत कुमार भी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages