फरीदाबाद में कोरोना बम बने आटो, प्रतिबंध के बाद भी धड़ल्ले से ठूंस रहे लोगों को - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, May 20, 2020

फरीदाबाद में कोरोना बम बने आटो, प्रतिबंध के बाद भी धड़ल्ले से ठूंस रहे लोगों को


Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद में प्रतिबंध के बावजूद सैंकड़ों ऑटो चालक सडक़ों पर उतर आए हैं।  मुख्य बात तो यह है कि इन ऑटो में सोशल डिस्टेंस के किसी भी नियम का पालन नहीं हो रहा। ऑटो में लोगों को भर भरकर ले जाया जा रहा है। किसी को डर नहीं है कि कोरोना वायसर तेजी से एक से दूसरे शरीर में प्रवेश कर जाता है। ऐसे ही एक ऑटो में कई महिलाएं भरकर काम करने के लिए जा रही हैं। काम करना भी जरूरी है, मगर जिस कोरोना के खतरे को देखते हुए सरकार ने पूरे देश को लॉकडाऊन कर दिया, उस खतरे के प्रति सतर्कता भी जरूरी है। बता दें कि कोरोना वायरस का सकं्रमण महिलाओं में भी तेजी से फैलता हुआ दिखाई दे रहा है। बीते बुधवार को एक एक्सपोर्ट फैक्ट्री में काम करने वाली दो महिलाएं कोरोना पॉजीटिव पाई गई हैं। इसी प्रकार से ओल्ड ऐज होम एनआईटी नंबर 5 में काम करने वाली 1 नंबर ए. ब्लाक निवासी महिला भी इस सक्रंमण की चपेट में आ गई। पर्वतीया कालोनी में एक गर्भवती महिला से पूरे परिवार को कोरोना हो गया। इसके बावजूद ना तो इन महिलाओं को इसकी फ्रिक है और ना ही ऑटो चालक को किसी सतर्कता की जरूरत महसूस हो रही है। एनआईटी क्षेत्र से प्रतिदिन कम से कम एक हजार ऑटो इसी प्रकार से लोगों को ठूंसकर लाने व छोडऩे का काम कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि रोजगार को देखते हुए बेशक ऑटो चलाएं, मगर कोरोना के बचाव के प्रति भी जिम्मेदारी को महसूस किया जाना चाहिए। लोगों का यह भी कहना है कि ऑटो चालकों ने प्रति सवारी रेट भी दोगुने कर दिए हैं, इसके बावजूद उन्हें अपनी जिम्मेदारी को भी समझना चाहिए। लोगों को कोरोना बम में बिठाकर ले जाना कितना खतरनाक साबित हो सकता है, यह देखने वाली बात है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages