पलवल में लगातार बढ़ रहा है कोरोना का ग्राफ, बनाए गए कई कंटेनमेंट जोन - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, May 30, 2020

पलवल में लगातार बढ़ रहा है कोरोना का ग्राफ, बनाए गए कई कंटेनमेंट जोन


पलवल में कोरोना का ग्राफ लगातार बढऩे लगा है। पलवल जिले में सात नए केस आने के बाद यह गिनती ५१ से बढक़र ५८ पर पहुंच गई है। इनमें ३ केस बसंतगढ़, २ रेलवे कालोनी, हुडा सेकटर से एक , गांव कुशक से भी एक पॉजीटिव सामने आए हैं। इससे पहले जवाहर नगर कैंप से भी ८ पॉजीटिव केस आए थे। मगर ७ और नए केस आने से पलवल प्रशासन में हडकंप मचा हुआ है। पलवल ही नहीं बल्कि होडल से भी दो नए केस आने के बाद प्रशासन ने हरकत में आते हुए सभी प्रभावित इलाकों में कंटेनमेंट जोन लागू कर दिया है। पलवल प्रशासन की खासियत है कि वह तत्काल हरकत में आते हुए कोरोना पर वार करने के प्रयासों मेंं जुट जाता है। प्रशासन ने रविवार को सभी बाजार बंद रखने की घोषणा कर दी है और लोगों से घर पर ही रहने की अपील की है। प्रशासन का कहना है कि रविवार को अवकाश के दिन होडल, पलवल व हथीन में सेनीटाईज करने की घोषणा की  गई है। बताया गया है कि इनमें से अधिकांश पॉजीटिव मामले गुरूग्राम व दिल्ली के संपर्क में आने की वजह से हुए हैं। जहां तक जवाहर नगर कैंप में आए केसों का मामला है तो वह मंडी में काम करने वाले आढ़ती की वजह से घटित हुए हैं। बल्लभगढ़ की मंडी में काम करने वाले इस आदमी को कोरोना सकं्रमण हुआ था, मगर उसने किसी प्रकार की सतर्कता नहीं बरती, उसका परिणाम यह हुआ कि घर के बाकि सभी लोग भी कोरोना की चपेट में आ गए। फिलहाल तक यह रिपोर्ट है कि जवाहर नगर कैंप के ये सभी लोग निगेटिव हो चुके हैं। मंडी में आढ़ती, उनका तीन माह का बेटा सहित  परिवार के ३  लोगों की रिपोर्ट  निगेटिव आई है। ये सभी लोग फरीदाबाद के अल्फला कॉलेज से छुट्टी के बाद होम आईसोलेशन में हैं तथा पत्नी, मां, दो भाभी, व दोनों भाई को  कोविड सेंटर में भर्ती रखा गया है , ३ माह का बच्चा निगेटिव होने के बाद भी अपनी मां के साथ कोविड सेंटर में भर्ती है। पलवल प्रशासन के अनुसार १७ कोरोना पॉजीटिव का ईलाज कोविड सेंटर में जारी है। ४१ लोग ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। वहीं प्रशासन ने कई कंटेनमेंट जोन भी बना दिए हैं। अभी तक २०२ लोगों की रिपोर्ट आनी शेष है। जबकि ५९१५ लोग सर्विलांस पर रखे गए हैं। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages