गुरूग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत व नूंह में कोरोना का हा-हाकार, तेजी से बढ़ रहे कोरोना पॉजीटिव - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, June 1, 2020

गुरूग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत व नूंह में कोरोना का हा-हाकार, तेजी से बढ़ रहे कोरोना पॉजीटिव


दक्षिण हरियाणा में कोरोना का कहर बरप रहा है। दक्षिण हरियाणा के गुरूग्राम में सोमवार को १२९ नए कोरोना के केस सामने आए हैं। इन सभी को मिलाकर गुरूग्राम में कोरोना पॉजीटिव के कुल मामले ९०३ हो गए हैं। इनमें से एकिटव केसों की तादाद ६१८ पहुंच गई है। अब तक गुरूग्राम में २८१ लोग डिस्चार्ज हो चुके हैं जबकि चार लोगों की मौत भी हो चुकी है। इसी प्रकार से दक्षिण हरियाणा का दूसरा प्रमुख जिला है फरीदाबाद। इस जिले में भी सोमवार को बेहताशा वृद्वि दर्ज हुई है। फरीदाबाद में ४५ नए मामलों के साथ यह तादाद ४१६ पर पहुंच गई है, आठ लोगों की कोरोना से मौत भी हुई है। इसी कड़ी में नूंह में तीन नए केस आए हैं। जिसके बाद वहां गिनती ७३ पर पहुंच गई है। जबकि सोनीपत भी कोरोना का गढ़ बनता जा रहा है। सोनीपत में सोमवार को २२ नए मामले सामने आए हैं। इस तरह से वहां २२१ केस हो गए हैं। इससे हडकंप मचा हुआ है। इसलिए हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज दिल्ली के साथ लगते इन जिलों को खोलने पर सहमत नहीं हो रहे हैं, वह लगातार इसका विरोध कर रहे हैं। यही वजह है कि सोमवार को भी सरकार की ओर से इन जिलों को दिल्ली की सीमा से प्रवेश के लिए आदेश जारी नहीं हुए। हालांकि राज्य में बाकि जिलों में प्रदेश के अन्य जिलों के लिए आवागमन खोल दिया गया है। मगर इसके बावजूद दक्षिण हरियाणा में स्थिति गंभीर बनी हुई है। इनमें भी खासतौर पर ये जिले जोकि कोरोना के लिहाज से बेहद संवेदनशील बन गए हैं। यही वजह है कि फरीदाबाद में सोमवार को भी जिला प्रशासन ने छूट नहीं दी है। फरीदाबाद में दुकान खोलने को लेकर सभी पाबंदी जारी हैं। गुरूग्राम में भी कमोबेश यही स्थिति है। इन दोनों जिलों को दिल्ली से आने जाने के लिए नहीें खोला जा रहा है। हालांकि इन दोनों ही जिलों में प्रदेश का बड़ा कारोबार होता है। उद्योगपति इस व्यवस्था से नाखुश हैं, व्यापारी वर्ग भी परेशान है, नौकरी पेशा भी खुद को काफी दुखी महसूस कर रहे हैं। मगर प्रशासन चाहकर भी उनकी मदद नहीं कर पा रहे हैं। जिससे सारी व्यवस्था चरमरा गई है, उद्योगपतियों का कहना है कि उनका माल ही बाहर नहीं जाएगा तो  प्रोडेकशन करके उन्हें लाभ नहीं होने वाला। इसी प्रकार से व्यापारी व नौकरीपेशा भी दुखी है। मगर स्थिति जस की तस बनी हुई है। दक्षिण हरियाणा ने राज्य की पूरी अर्थस्थिति को बदतर कर दिया है। इन हालातों में कोरोना पर भी अंकुश नहीं पाया जा रहा है। वहीं लगातार कोरेाना बढ़ता जा रहा है, मगर सरकार भी चुप्पी साधे हुए है। इससे व्यवस्था चरमराई हुई है। देखने वाली बात यह है कि आने वाले टाईम में कोरेाना की गति और अधिक तेजी से बढ़ेगी, तबके लिए प्रशासन की कैसी तैयारी है, यह बताने को कोई तैयार नहीं है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages