दिल्ली में शराब प्रेमियों की पौ-बारह, अब सस्ती मिलेगी अंगूर की बेटी - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, June 10, 2020

दिल्ली में शराब प्रेमियों की पौ-बारह, अब सस्ती मिलेगी अंगूर की बेटी




 दिल्ली में शराब की बढ़ी हुई कीमतें बुधवार से वापिस ले ली गई हैं। दिल्ली सरकार ने कोविड-19 के चलते शराब के दामों में भारी बढ़ोतरी की  थी। शराब पर 70 प्रतिशत तक रेट बढ़ा दिए गए थे, लेकिन बुधवार यानि कि 10 जून से यह रेट वापिस ले लिए गए हैं। अब दिल्ली में 70 प्रतिशत के रेट कम किए जाने के बाद सस्ते दामों पर शराब उपलब्ध होगी। दिल्ली सरकार ने कोरोना काल में शराब पर बेहताशा बढ़ोतरी कर दी थी। इससे जहां शराब प्रेमी निराश हो गए थे, वहीं शराब की बिक्री में भी भारी गिरावट देखी गई। लोगों ने दिल्ली की बजाए हरियाणा का रूख कर लिया और इसके साथ साथ शराब माफिया भी सक्रिय हो गए। जोकि दिल्ली सरकार के ठेकों से सस्ते दामों पर शराब उपलब्ध करवा रहे थे। दिल्ली सरकार ने शराब की बिक्री के गिरते ही यह फैसला वापिस लेने का निर्णय किया। हालांकि सरकार ने एक सप्ताह पहले ही शराब के  रेट में की गई बढ़ोत्तरी को वापिस  लेने के आदेश से लोगों को अवगत करवा दिया था, लेकिन इस आदेश को 10 जून को लागू किया गया है। इससे शराब के प्रेमियों को जहां खासी राहत मिलेगी, वहीं शराब की बिक्री में फिर से तेजी देखने को मिल सकती है। 70 प्रतिशत रेटों में  कटौती के बाद अब सरकार ने वेट पर बढोतरी कर दी है। पांच प्रतिशत वैट बढ़ा दिया गया है। पहले दिल्ली सरकार के ठेकों पर 20 प्रतिशत का वैट लगा हुआ था, अब वह बढक़र 25 प्रतिशत हो गया है। यानि कि अब दिल्ली में शराब के घटे हुए दामों पर 25 प्रतिशत का वैट बढ़ाकर शराब खरीदनी होगा। लेकिन पांच प्रतिशत के वैट बढ़ोतरी पर लोगों को शायद कोई फर्क नहीं पड़ेगा। जबकि 70 प्रतिशत कोविड टैक्स घटने से लोगों को बड़ी राहत महसूस होगी, साथ ही सरकार को शराब की बढ़ी हुई बिक्री से अच्छे खासे राजस्व की प्राप्ति होगी। जब से दिल्ली में शराब के रेट बढ़ाए गए हैं, तभी से बिक्री खासी प्रभावित हुई है। लोगों ने दिल्ली के ठेकों से मंहगे दामों पर शराब खरीदना जरूरी नहीं समझा, जिसे दिल्ली सरकार ने भी समझा और आखिरकार बढ़ाए गए दाम वापिस लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages