भ्रष्टाचार के चलते जाने माने मेदांता अस्पताल के सीएमडी डा. त्रेहन पर दर्ज हुआ मुकदमा - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, June 7, 2020

भ्रष्टाचार के चलते जाने माने मेदांता अस्पताल के सीएमडी डा. त्रेहन पर दर्ज हुआ मुकदमा


गुरूग्राम के प्रसिद्व मेंदाता मेडीसिटी अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर एवं देश के जाने माने डाक्टर नरेश त्रेहन के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के   तहत मुकदमा दर्ज होने का मामला सामने आया है। यह मामला अदालत में दायर एक याचिका के बाद दर्ज किया गया है। गुरूग्राम की एक अदालत ने इस याचिका की सुनवाई करते हुए  डा. नरेश त्रेहन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। गुरूग्राम के आरटीआई एक्टिविस्ट रमन शर्मा की याचिका पर पुलिस ने यह मामला दर्ज किया है। इस याचिका में डा. त्रेहन सहित 52 लोगों  के ऊपर मेदांता मेडीसिटी प्रोजेक्ट के मामले में गड़बड़ी करने के आरोप हैं। 
आरटीआई कार्यकर्ता रमन शर्मा ने बताया कि पिछले वर्ष जून में उन्होंने इस अस्पताल के प्रोजेक्ट को लेकर प्रर्वतन निदेशालय ईडी में शिकायत दी थी। ईडी ने इस मामले को हरियाणा पुलिस  के पास भेज दिया। पंरतु पुलिस ने काफी समय तक भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद रमन शर्मा ने तीन दिन पहले अदालत का दरवाजा खटखटाया। दायर की गई याचिका में आरोप लगाया गया कि यह पूरा प्रोजेक्ट 1 हजार करोड़ रुपए का था, जिसे 2009 में पूरा किया जाना था। लेकिन इस अवधि में अस्पताल बनाकर छोड़ दिया गया। जबकि इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत चिकित्सा कॉलेज, शोध केंद्र, नर्सिंग स्टॉफ क्वार्टर तथा मरीजों के रिश्तेदारों के लिए गेस्ट हाऊस बनाया जाना था। इसके अलावा भी उपरोक्त प्रोजेक्ट में जनहित से संबंधित कई सुविधाएं बनाई जानी थी। लेकिन उन पर ध्यान देने की बजाए उन्हें वहीं छोड़ दिया गया। एक और बड़ा आरोप इस याचिका में यह लगाया गया है कि पहले इस प्रोजेक्ट को पूरा करना चाहिए था, मगर इस अस्पताल से पैसा कमाकर अन्य प्रदेशों में खर्च किया गया। इस याचिका में रमन शर्मा ने डा.नरेश त्रेहन  उनके पार्टनर सहित 52 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार एवं मनी लॉड्रिंग के अंतर्गत मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई थी। जिस पर सुनवाई करते हुए अदालत ने गुरूग्राम पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। लोगों का आरोप है कि इस अस्पताल में गरीबों को ईलाज उपलब्ध नहीं करवाया जाता है। इसकी शिकायत कई बार मुख्यमंत्री व सरकार के संबंधित विभागों से भी की गई है। पंरतु उक्त अस्पताल के खिलाफ सरकार ने कभी कोई कार्रवाई नहीं की। वहीं इस मुकदमे को लेकर डा. नरेश त्रेहन ने सभी आरोपों को गलत बताया है और कहा कि इनमें किसी प्रकार की सच्चाई नहीं है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages