खोल दो फरीदाबाद का सारा बाजार, भूखे मरने लगे हैं दुकानदार - The Citymail Hindi

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, June 9, 2020

खोल दो फरीदाबाद का सारा बाजार, भूखे मरने लगे हैं दुकानदार


 फरीदाबाद में  पूरा बाजार खोलने की मांग को लेकर व्यापारियों का एक प्रतिनिधि मंडल जिला उपायुक्त यशपाल यादव से मिला। व्यापारियों ने कहा कि राईट-लेफ्ट व ऑड-ईवन की बजाए सभी दुकानों को खोलने के निर्देश जारी किए जाएं। व्यापारियों के अनुसार प्रशासन के ऑड-ईवन की तर्ज पर दुकान खोलने से दुकानदारों की माली हालत खराब हो रही है। किराएदार व दुकान मालिकों में झगड़े बढ़ रहे हैं, विवाद हर रोज थाने में पहुंच रहे हैं। इसके अलावा दुकानदारों के सामने रोजगार का संकट भी विकराल रूप ले रहा है। इसलिए मानवता के आधार पर प्रशासन को निर्णय लेना चाहिए और सभी दुकानों को खोलने के आदेश जारी करने चाहिएं। इस प्रतिनिधि मंडल में हरियाणा व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष राम जुनेजा, वासुदेव अरोड़ा, नीरज मिगलानी, बल्लभगढ़ बस अड्डा मार्केट एसोसिएशन के प्रधान खटर, हरीश बतरा व विनोद भंसाली मौजूद थे। उपायुक्त ने सभी व्यापारियों की बात को ध्यानपूर्वक सुना और उन्हें आश्वासन दिया कि इस मुद्दे पर वह सरकार के समक्ष बात रखेंगे। सरकार के निर्देश आने पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। व्यापारियों ने उपायुक्त को पलवल का हवाला भी दिया और कहा कि वहां सुबह नौ  से शाम सात बजे तक सभी दुकानें खोलने की अनुमति है। हालांकि उपायुक्त ने कहा कि फरीदाबाद में  कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए आधे बाजार खोलने का  निर्णय लिया गया है। व्यापारियों की समस्या को वह भी समझते हैं, मगर हालात बहुत अच्छे नहीं हैं। फिर भी वह अपनी ओर से पूरा प्रयास  करेंगे और दो दिन के भीतर इस मामले को निपटाने की कोशिश करेंगे। बता दें कि फरीदाबाद जिला कोरोना के चलते संवेदनशील है। जिले में हर रोज तेजी से केस सामने आ रहे हैं। जिसकी वजह से राज्य सरकार ने फरीदाबाद में सभी व्यापारिक गतिविधियों को सीमित दायरे में रखने के आदेश दिए हैं। इसके अंतर्गत नगर निगम के अधीन आने वाले बाजारों को राईट व लेफ्ट के आधार पर खोला जा रहा है और हुड्डा के दायरे में ऑड-ईवन की तर्ज पर दुकानें खोली जा रही हैं। प्रशासन का मकसद बाजारों में भीड़ को कंट्रोल में रखना है। पंरतु व्यापारी इस व्यवस्था को लेकर बहुत परेशान हैं। जो दुकानदार किराए की दुकानों में हैं, उनके दुकान मालिक से किराए को लेकर विवाद हो रहे हंै। इसी प्रकार से दुकानों में काम करने वाले कर्मचारियों को यदि आधे महीने की सेलरी दी जाती है तो उसका खर्चा भी नहीं चल पाता। ऐसी तमाम समस्याओं को लेकर ही व्यापारियों ने उपायुक्त से मुलाकात कर अपनी समस्या उनके सामने रखी। माना जा रहा है कि इस मामले को लेकर प्रशासन जल्द ही कोई बड़ा निर्णय जारी कर सकता है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages